assignment 4 class 12th hindi answer pdf|CG board assignment 4 class 12th hindi solution

assignment 4 class 12th hindi answer pdf|CG board assignment 4 class 12th hindi solution


cg board assignment 4 class 12th hindi solution : हैलो दोस्तों आप सभी का  स्वागत है  और आज के इस आर्टिकल के माध्यम से छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर के छात्रों के लिए cg board assignment 4 classs 12th hindi solution  के बारे में संपूर्ण जानकारी मिलने वाली है छात्रों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि छत्तीसगढ़ बोर्ड की तरफ से नवंबर के आखिरी सप्ताह में जो असाइनमेंट जारी किए गए हैं हमारे इस वेबसाइट के माध्यम से आपको  के लिए Cg board assignment 4 class 12th hindi solution pdf November का हल pdf के रूप में उपलब्ध कराए जायगे|आप assignment 4 का solution हिन्दी और अंग्रेजी दोनों माध्यमों में हमारी वेबसाइट www.boardjankari.com के माध्यम से download कर सकते हैं|आपको असाइनमेंट-04 नवंबर माह  के कक्षा-12 वीं के सभी विषयों के उत्तर प्रदान कराए जाएंगे |



assignment 4 class 12th hindi answer pdf|
assignment 4 class 12th hindi answer pdf|


                          

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल, रायपुर


शैक्षणिक सत्र 2021-22 माह नवम्बर


असाइनमेंट 04


कक्षा बारहवीं


विषय हिन्दी


पूर्णाक-20


निर्देश :-
दिए गए सभी प्रश्नों को निर्देशानुसार हल कीजिए।
प्रश्न 1. निम्नलिखित अपठित गद्यांश को पढ़कर पूछे गये प्रश्नों के उत्तर लिखिए
यों तो पहली बार किए गए हर काम में खतरा है, जोखिम है, उसके
बिगड़ने का भय और उस बिगाड़ से उत्पन्न दूसरे खतरों की भी संभावनाएँ हैं, किन्तु
उसमें अपना एक अनोखा रस भी होता है। यदि उस अनुभव के बीच से गुजरते हुए
हमारे साथ कोई दुर्घटना भी हो जाती है, तो उसकी वह स्मृति भी आनंदप्रद है। जब
मैंने पहली बार चाय बनाई, तो जिस अनुभव के बीच से मैं गुजरी, वह सचमुच
खतरनाक था। उस दिन माँ कहीं पड़ोस में गई थी और मैं अपना हिंदी का गृह
कार्य निपटाने में लगी थी कि इसी बीच असमय ही, नियत समय से कुछ पहले
पिताजी अपने दफ्तर से आ गए। मैंने सोचा कि माँ की अनुपस्थिति में मैं ही आज
पिताजी को चाय पिलाकर आश्चर्य चकित करने के साथ-साथ कुछ प्रशंसा भी लूट
लूं। मैं उठी और रसोई में जाकर मैंने चाय का पानी चढ़ा दिया। मुझे ठीक-ठीक
अंदाजा नहीं था कि पानी कितना चढ़ाया जाए. अतएव मैंने एक गिलास पानी यह
सोचकर चढ़ा दिया कि गर्म होने पर कुछ पानी जल जाएगा। पानी अभी उबला भी
नहीं था कि मैंने उसमें चाय और चीनी के साथ-साथ एक गिलास दूध भी डाल
दिया। मुझे पता नहीं था कि चाय की पत्तियाँ कितनी डाली जाएँ। मैंने दो चम्मच
भरकर चाय पत्ती डाल दी और चार चम्मच चीनी। कुछ ही देर में चाय उबलने
लगी, किंतु चाय का रंग काला ही बना रहा। मैंने उसमें कुछ और दूध डाल दिया।
उबलने पर जैसे ही मैं चाय को नीचे उतारकर छानने लगी, मेरा हाथ गिलास पर
लग गया, जिससे भरा गिलास नीचे गिरकर टूट गया और चाय मेरे कपड़ों को तर
करती और पैरों को जलाती फर्श पर बिखर गई। पिताजी दौड़कर आए और उन्होंने
मेरे पैरों पर तुरंत ठंडा पानी डाला और मुझे कपड़े बदलने के लिए कहा। मेरी सारी
उम्मीदों पर पानी फिर गया। आज भी जब-तब मुझे मेरा वह पहली बार चाय बनाने
का अनुभव रोमांचित कर जाता है।


(क) गद्यांश का उपयुक्त शीर्षक दीजिए।
(ख) पहली बार किए जाने वाले किसी भी काम में किस बात की संभावना होती है?
(ग) लेखिका के अनुसार कौन-सी स्मृति आनंदप्रद है?
(घ) लेखिका का कौन-सा अनुभव खतरनाक था?
(ङ) लेखिका ने क्या सोचकर चाय बनाने का निर्णय लिया?
(च) चाय का रंग काला ही बना रहा, क्यों?


(छ) लेखिका की उम्मीदों पर किस प्रकार पानी फिर गया? समझाइए।


अंक-12
प्रश्न 2. निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए
अच्छा होता, दुख न कभी होता, सुख होता।
होते सब उत्फुल्ल, न मिलता कोई रोता।।
उठती रहती सदा हदय में सरस तरंगें।
कुचली जाती नहीं किसी की कभी उमंगे।।
बजते होते घर-घर में आनंद-बधावे।
निरानंद मिलते न धूम से करते धावे।।
सदा विहँसता जन-जन-चंद्रासन दिखलाता।
किसी काल में कहीं न कोई मुख कुम्हलाता।।
बहती मिलती सकल मानसों में रस-धारा।
छिदता-बिंधता नहीं हृदय बेदन-शर द्वारा।।
अच्छा होता-दुख न कभी होता, सुख होता।
होते सब उत्फुल्ल, न मिलता कोई रोता।।
होते जगती-जीव मंजु भोगों के भोगी।
करने पर भी खोज न मिलता कोई रोगी।।
अच्छा होता, दुख न कभी होता, सुख होता।
होते सब उत्फुल्ल, न मिलता कोई रोता।।


(क) कवि यह क्यों कहता है कि 'अच्छा होता दुख न कभी होता? अंक-01


(ख) हर जगह सुख होने पर घर-घर में क्या होता? 
अंक-01

(ग) सुख से जनता पर क्या असर होता?अंक-01

(घ) इस काव्यांश का भाव लिखिए। अंक-01 अंक-04 शब्दसीमा 100-125

प्रश्न 3. जाति-प्रथा भारतीय समाज में बेरोजगारी व भुखमरी का भी एक कारण कैसे बनती
रही है? क्या यह स्थिति आज भी है? लिखिए। 
अंक-04 शब्दसीमा 75-100


छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर

शैक्षिक सत्र 2021 22 माह नवंबर

असाइनमेंट -04

कक्षा -12वीं

विषय -हिंदी


 


 प्रश्न 1. निम्नलिखित अपठित गद्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर लिखिए -


 


(क). गद्यांश का उपयुक्त शीर्षक दीजिए ।


उत्तर - इस गद्यांश का उपयुक्त शीर्षक है पहली चाय ।


(ख). पहली बार किए जाने वाले किसी भी काम में किस बात की संभावना होती है?


उत्तर -पहली बार किए जाने वाले किसी भी काम में खतरे का सामना करना पड़ सकता है, अर्थात पहली बार किए जाने पर उसके बिगड़ने का भय हो सकता है, स्वयं या दूसरों पर भी खतरा पहुंचना स्वाभाविक है।


(ग) . लेखिका के अनुसार कौन सी स्मृति आनंद प्रद होती है?

उत्तर - लेखिका के अनुसार किसी काम को पहली बार करने की स्मृति आनंद प्रद होती है। यदि उस काम को करते समय दुर्घटना भी हो जाती है तो उसकी वह स्मृति आनंद प्रद है।


(घ) . लेखिका का कौन सा अनुभव खतरनाक था?


उत्तर- लेखिका ने पहली बार जब चाय बनाई तो चाय को शांति भक्त चाय का गिलास उनके हाथ से छूट गया और चाय फर्श पर बिखर गई इससे लेखिका के पैर भी जल गए उनका यह अनुभव खतरनाक था।


 (ड) . लेखिका ने क्या सोचकर चाय बनाने का निर्णय लिया।


उत्तर - लेखिका ने सोचा कि वह अपनी मां की अनुपस्थिति में अपने पिताजी के लिए चाय बना कर उन्हें आश्चर्यचकित करेगी और प्रशंसा भी लूटेगी। इसलिए लेखिका ने चाय बनाने का निर्णय लिया।


(च ).  चाय का रंग काला ही बना रहा क्यों?


उत्तर -  लेखिका को यह नहीं पता था कि चाय की पत्तियां कितनी डाली जाए? चाय का रंग काला इसलिए बना रहा क्योंकि लेखिका ने उस में आवश्यकता से अधिक चाय पत्तियां डाल दी थी।


 (छ) . लेखिका की उम्मीदों पर किस प्रकार पानी फिर गया? समझाइए

उत्तर- लेखिका ने सोचा था कि वह चाय बनाकर अपने पिताजी को आश्चर्यचकित करेगी और प्रशंसा लूटेगी पर ऐसा कुछ भी नहीं हुआ उनसे गलती से सारी चाय फर्स पर गिर जाती है और उनकी सारी उम्मीदों पर पानी फिर जाता है।


 


प्रश्न 2. निम्नलिखित काव्यांश को पढ़कर पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दीजिए .


अच्छा होता दुख ना  कभी होता सुख होता ……. कोई रोता ।


 (क) . कभी यह क्यों कहता है कि अच्छा होता दुख ना कभी होता?


उत्तर - कभी कहते हैं कि अच्छा होता दुख ना कभी होता क्योंकि वह सब को प्रफुल्लित देखना चाहते हैं। वह किसी को रोता हुआ नहीं देखना चाहते। वह सबके अंदर उमंग और उत्साह की भावना देखना चाहती है।


 (ख ). हर जगह सुख होने पर घर में क्या-क्या होता है?


उत्तर - हर जगह सुख होने पर घर घर में आनंद ही आनंद होता है और सभी का हृदय में प्रसन्नता होती है। सभी के घर में आनंद वधावे बजते होते ।


 (ग) . सुख में जनता पर क्या असर होता है?


उत्तर - कवि के अनुसार जनता में सुख होने पर निम्नलिखित असर होते हैं -


किसी भी समय कोई मुख को मिलाकर नहीं घूमता,सबके मन के अंदर खुशी की लहर दौड़ थी तथा किसी के हृदय में दुख की भावना नहीं होती और किसी भी व्यक्ति को रोग ना होता।


 (घ) . इस काव्यांश का भाव लिखिए -


उत्तर - इस कविता के माध्यम से कभी यह कहना चाहते हैं कि यदि इस संसार में किसी भी प्रकार का कोई दुख नहीं होता, रोग नहीं होता नकारात्मक नहीं होती और प्रेम भावना होती तो यह संसार सुखी होता। सभी मनुष्य भाई चारे के साथ अपना जीवन बिताते। 


 प्रश्न 3 जातिप्रथा भारतीय समाज में बेरोजगारी और भुखमरी का भी एक कारण कैसे बनती जा रही है? क्या यह स्थिति आज भी है? लिखिए


उत्तर-   जाति प्रथा भारतीय समाज में बेरोजगारी भुखमरी का भी एक कारण बनती जा रही है क्योंकि यहां जाति प्रथा पेशे का दोषपूर्ण पूर्ण निर्धारण ही नहीं करती बल्कि मनुष्य को जीवन भर के लिए एक पेशे में बाँध भी देती है। उसे पेशा बदलने की अनुमति नहीं होती। भले ही पेशा अनुपयुक्त या अपर्याप्त होने के कारण वह भूखा मर जाए। आधुनिक युग में यह स्थिति पर आया आती है क्योंकि उद्योग धंधों की प्रक्रिया व तकनीक में निरंतर विकास और कभी-कभी अकस्मात परिवर्तन हो जाता है जिसके कारण मनुष्य को अपना पेशा बदलने की आवश्यकता पड़ सकती है।


ऐसी परिस्थितियों में मनुष्य को पेशा ना बदलने की स्वतंत्रता ना हो तो बुक मरीबा बेरोजगारी बढ़ती है। हिंदू धर्म की जाति प्रथा किसी भी व्यक्ति को पैतृक पेशा बदलने की अनुमति नहीं देती। आज यह स्थिति नहीं है। सरकारी कानून समाज सुधार व शिक्षा के कारण जाति प्रथा के बंधन कमजोर हुए हैं। पेशे संबंधी बंधन समाप्त हो गए हैं। यदि व्यक्ति अपना पेशा बदलना चाहे तो जातिवाद अत नहीं है।





 






छ.ग.असाइनमेंट  4 class 12th hindi question paper pdf download (cg board assignment 4 question paper pdf )


छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर आज ही कक्षा  के सभी विषय के assignment 4 जारी कर दिए गए हैं और अब छत्तीसगढ़ बोर्ड के सभी छात्र आप सभी सबसे पहले छत्तीसगढ़ बोर्ड द्वारा जारी cg board assignment 4 class 12th hindi के question paper की pdf को बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट  पर जाकर सभी विषय के असाइनमेंट के question paper की pdf को डाउनलोड कर सकते हैं या फिर आप इस वेबसाइट से भी असाइनमेंट  के question paper की पीडीएफ को डाउनलोड कर सकते हैं ।



छत्तीसगढ़ बोर्ड असाइनमेंट 4 class 12th hindi solution pdf डाउनलोड (cg board assignment 4 answer pdf 

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल रायपुर आज ही कक्षा  के सभी विषय के assignment 4 class 12th जारी कर दिए गए हैं और अब छत्तीसगढ़ बोर्ड के सभी छात्र असाइनमेंट के उत्तर  को ढूंढ रहे हैं और हमारी इस वेबसाइट पर लगातार कक्षा  के छात्रों के लिए असाइनमेंट के उत्तर उपलब्ध कराए जा रहे हैं सभी छात्र इस वेबसाइट के माध्यम से सभी विषय के आंसर को डाउनलोड कर सकेंगे जैसा कि आप सभी जानते हैं कि छत्तीसगढ़ बोर्ड की तरफ से हर माह असाइनमेंट जारी किए जाते हैं और हर माह हमारी इस वेबसाइट www.boardjankari.com पर उत्तर अपलोड किए जाते हैं आप सभी को पता होगा कि छत्तीसगढ़ बोर्ड पिछले वर्ष से ही कक्षा 10 वीं और 12 वीं के छः असाइनमेंट ले रहा है और इस वर्ष भी cg board कक्षा 10 वीं और 12 वीं के छःअसाइनमेंट ले रहा है आप इस छः असाइनमेंट के Solution pdf के रूप में हमारी वेबसाइट www.boardjankari.com के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं |




cg board assignment 4 class 12th answer pdf download

subjectsQue.papersolution pdf
हिंदीClick hereClick here
अंग्रेजीClick hereClick here
रसायन विज्ञानClick hereClick here
गणितClick hereClick here
भौतिक विज्ञानClick here Click here
जीव विज्ञानClick hereClick here
अर्थशास्त्रClick hereClick here
इतिहासClick hereClick here
भूगोलClick hereClick here
राजनीति विज्ञानClick hereClick here
मनोविज्ञानClick hereClick here
लेखाशास्त्रClick hereClick here
व्यावसाय अध्ययनClick hereClick here
समाज शास्त्रClick hereClick here
संस्कृतClick hereClick here










छात्रों मुझे उम्मीद है कि आपको यह पोस्ट पसंद आएगी और अगर आप को यह पोस्ट पसंद आती हैं तो इस पोस्ट को शेयर करना ना भूले यदि आपको अगर कुछ भी doubt हो तो आप हमें comment भी कर सकते हैं 




हमारे वेबसाइट www.boardjankari.com पर visit करते रहें |और नोटिफिकेशन को on कर लीजिए ताकि आपको जल्द से जल्द सारी अपडेट हमारी वेबसाइट के माध्यम से मिल सके |




 

 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.